top of page
खोज करे

अपना वेब चैनल या ऑनलाइन पोर्टल कैसे खोले

अपडेट करने की तारीख: 27 फ़र॰


दोस्तों आज हम बताने वाले हैं की वेब TV या ऑनलाइन पोर्टल जिसमें लाईव चैनल कैसे चला सकते हैं और इसे चलाने में किस तरह की पर्मिशन लेनी पड़ेगी और किस तरह से हमें सरकार द्वारा विज्ञापन मिल सकती हैं!


दोस्तों सबसे पहले किसी भी संस्था जो लोगों के लिए काम करती हैं या करना शुरू करती हैं तो उसके पास ज़रूरत हैं कांटेंट जो आपके देखने वाले देख सके और पढ़ने वाले पढ़ सके और हमेशा आप से जुड़े रहे हर छोटी और बड़ी संस्था के चैनल को देखने वाले और पढ़ने वाले सब नहीं बल्कि सब में से कुछ लोग होते हैं जैसे हमारी देश की जनसंख्या हैं १४० करोड़ तो आपको देखना पड़ेगा यूथ कितने हैं बग़ुर्ग कितने हैं माता कितनी हैं लड़की कितनी हैं और ये सब लोग क्या देखना पसंद करते हैं इसलिए हर चैनल पर अलग अलग कार्यक्रम आता हैं और एक ही कम्पनी की अलग अलग चैनल होती हैं तो बात साफ़ हैं हमें अच्छी कांटेंट चाहिए जो अपने चुने हुए लोगों को अच्छे से दिखा सके और वो देख सके!


आइए अब बात करते हैं कांटेंट के लिए हमें किस तरह की मशीन/ इन्फ़्रस्ट्रक्चर की ज़रूरत हो सकती हैं! सबसे पहले एक स्टूडीओ ज़्यादा बड़ा नहीं तो छोटा भी चलेगा शुरुआत में फिर बाद में अपनी लोकप्रियता के बाद बड़ा बनाया जा सकता हैं

1. Studio

जैसा कि आप देख सकते हैं स्टूडीओ जिसमें हम अपनी खबर को शूट करेंगे उसमें भिन्न प्रकार की उपकरण हैं आइए जानते हैं उन सब के बारे में भी

  1. Camera

  2. Tripod

  3. Teleprompter

  4. Mic

  5. Light

  6. speaker

  7. TV

  8. Chromo Set or Real Set

ये सारी उपकरण हमें अपनी स्टूडीओ में ज़रूरत होती हैं किसी भी प्रकार की न्यूज़ लाईव करने के लिए या शूट करने के लिए और इन सबकी मदद से हम अपने कांटेंट को शूट कर के अपने देखने वाले तक पहुँचाते हैं !


2. PCR - MCR

हमारे चैनल में इस डिपार्टमेंट का कार्य बहुत अहम होता हैं इसी डिपार्टमेंट से हम लाईव या रिकॉर्डिंग का कांटेंट तैयार करते हैं जिसे सीधे लोगों तक देखने के लिए भेजा जाता हैं ये हर तरह के चैनल में ज़रूरी होता हैं चाहे वो मूवी , धार्मिक या किसी भी प्रकार का चैनल हो आइए जानते क्या क्या अहम हैं एस डिपार्टमेंट में किस तरह के उपकरण लगते हैं

  1. Audio Mixer

  2. Video Switcher

  3. Server for Playout or V- Mix

  4. Speaker

  5. V- Mix/ Playout

  6. TV

इन सारी उपकरण की मदद से हम अपने चैनल के सभी प्रोग्राम को schedule कर सकते हैं जो 24x7 चलता हैं और यही पे किसी भी प्रकार की फ़ील्ड की रिपोर्टर की लाईव ली जा सकती हैं उसके लिए हमें फ़ील्ड से प्रसारित करने वाली मोबाइल ऐप या 4G Bonding Video Encoder Mine Q-8 की मदद से सीधे हम डीकोडर से विडीओ स्विचर में ले सकते हैं!


अब जानिए कैसे हम एक साथ अपने कांटेंट को OTT Platform ( Jio, MX Player, PayTM, Daily Hunt) पे डलवा सकते हैं लेकिन ध्यान रखे कोई भी अच्छी कांटेंट को ही अपने प्लैट्फ़ॉर्म पर रखेगा जिसे लोग देखना पसंद करते हैं या कर सकते हैं आप अपने कांटेंट को सीधे विडीओ encoder के माध्यम से OTT तथा सोशल मीडिया पर दिखा सकते हैं!


अब जानते हैं इस तरह के चैनल चलाने के लिए किस प्रकार की पर्मिशन की ज़रूरत होती हैं तो जान लीजिए इस तरह के चैनल चलाने के लिए आपको 90 दिन का कांटेंट अपने यह रखना ज़रूरी हैं जिसे किसी भी राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा किसी के शिकायत करने पे माँगा जा सकता हैं और ग़लत पाए जाने पर आपके चैनल को बंद करने के आदेश दिए जा सकते हैं आपको Program & Advertisement Code Under Cable Network Regulation Act,1995 के अंतर्गत सभी प्रकार के मापदंड माने होंगे!


किसी भी प्रकार के सोशल मीडिया, OTT तथा केबल नेट्वर्क पर चलाने के लिए आपको उनके साथ अग्रीमेंट साइन करना होता हैं जिसमें आपको सभी तरह की मापदंड मानने के बारे में भी होता हैं फिर वो आपके नाम का सरकार को सारी जानकारी देते हैं और उनकी नियम और शर्तें जो उन्होंने केंद्र सरकार के साथ की हैं उसमें आप भी आ जाते हैं!



अधिक जानकारी के लिए आप हमें सम्पर्क करे +91-9210025777 या ईमेल करे info@skywirebroadcast.com


हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

Comments